...

शुक्रवार, 10 अप्रैल 2015

टोल मुक्त होगा महाराष्ट्र – फडणवीस



मुंबई।  महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सरकार ने अपनी वचनपूर्ति करते हुए यह घोषणा की है कि १ जून से महाराष्ट्र में नई टोल योजना शुरू करते हुए राज्य के १२ टोल नाके हमेशा के लिए बंद होंगे। साथ ही शेष ५३ टोलनाकों पर छोटे वाहनों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। उक्त घोषणा करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने यह भी कहा कि ’अभी तो यह झाकी है, पूरी फिल्म अभी बाकी है। ’
गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा और शिवसेना ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में जाहिर किया था कि सरकार में आते ही वे पहले राज्य को टोल से मुक्त करेंगे। मगर सरकार में आने के बाद भी टोल ज्यों के त्यों वसूले जा रहे थे। जिससे विपक्ष लगातार सरकार की आरोप टिका करने में लगे थे। इसी आरोप का जवाब देते हुए आज अधिवेशन सत्र के अंतिम दिवस पर मुख्यमंत्री ने महाराष्ट्र के टोल से त्रस्त वाहनधारकों को आशा की नई किरणे दी। फडणवीस ने एक निवेदन के माध्यम से विधानसभा में उक्त टोलमुक्ती की घोषणा की। 
   मीडिया से बातचित करते हुए सार्वजनिक बांधकाम मंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि उक्त टोल बंदी से सार्वजनिक बांधकाम विभाग एवं एमएसआरडीसी को सालाना ५०० करोड़ रूपए का नुकसान झेलना पडेगा। जबकि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुनिल तटकरे ने उक्त पैâसले पर टिका करते हुए सरकार पर आरोप लगाया है कि फडणविस सरकार केवल जनता की आंखों में धूल झोकने का काम कर रही है। जो टोलनाके बंद किए जानेवाले हैं, उनकी सूचि सामने आने के बाद ही सच्चाई का खुलासा होगा। साथ ही जो टोल बंद होनेवाले हैं उनकी कानूनन मुहलत खत्म हुई या नहीं इस बात का भी खुलासा होना अभी बाकी है। इसपर सरकार संतोषजनक जवाब दे तभी सरकार की नैतिकता सामने आएगी। 

कोई टिप्पणी नहीं: